नौगांव: चार महीने पहले नौगांव से जिस महिला का अपहरण उसी के मौसा ने किया था। उसका चकराता में एक खाई से कंकाल बरामद हुआ है। इस मामले में पुलिस ने पहले दिन से ही लापरवाही बरती। परिजनों के कई बार गुहार लगाने के बाद भी मुकदमा दर्ज नहीं किया था। बाद में पहाड़ समाचार ने जब इस मसले को उठाया तो मुकदमा दर्ज किया गया। लेकिन, जांच में फिर भी तेजी नहीं नहीं लाई।

/

चार महीने पहले गायब हुई महिला का कंकाल पुलिस ने चकराता से बरामद किया है। मामले में पुलिस और SOG  टीम ने बागपत निवासी आरोपी को चकराता के बैराट खाई के पास राडना डांडा से गिरफ्तार किया और कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया। वहीं, घटना का पता लगते ही परिजनों ने मुआवजे की मांग को लेकर यमुनोत्री हाईवे पर जाम लगा दिया।

मामला इसी साल जुलाई का है। पुलिस के अनुसार, नौगांव के कुण्ड गांव की रहने वाली रानी (30) को उसका मौसा सोम देव बहला फुसला कर अपने साथ ले गया था। इसके बाद परिजनों ने महिला के अपहरण का केस दर्ज कराया था। पुलिस ने आरोपी को पकड़ने के लिए सोनीपत, बड़ौत, बागपत, बिहार, राजस्थान समेत तमाम शहरों में दबिश दी लेकिन पकड़ नहीं पाई।

शनिवार देर रात पुलिस और एसओजी की टीम ने सूचना पर आरोपी को चकराता से धर दबोचा। आरोपी ने बताया कि जब वह रानी को ले गया था, तभी उसने रानी की हत्या कर गहरी खाई में फेंक दिया था। आरोपी की निशानदेही पर पुलिस ने महिला का कंकाल बरामद किया।

परिजनों को जब इस घटना का पता लगा तो परिजनों ने ग्रामीणों के साथ नौगांव चौकी के पास यमुनोत्री हाईवे पर जाम लगा दिया। परिजनों की मांग है कि मृतका की पांच वर्ष की बेटी को मुआवजा दिया जाए। इस दौरान भारी पुलिस बल तैनात रहा। पुलिसकर्मियों ने उन्हें समझाने की कोशिश की, लेकिन वे नहीं मानें। पुलिस कप्तान के आश्वासन के बाद ही परिजनों ने जाम खोला।

Leave a Reply

Your email address will not be published.