Kotdwar News : पौड़ी जिले की नवनियुक्त एसएसपी श्वेता चौबे ताबड़तोड़ एक्शन में नजर आ रही हैं। लापरवाही बरतने पर एसएसपी ने चौकी प्रभारी और एक पुलिसकर्मी को निलंबित कर दिया। यहां आपसी झगड़े में एक युवक की उपचार के दौरान मौत हुई है, परिजनों का आरोप था कि, जब उन्होंने चौकी में पहुंच मामले में कार्रवाई की बात कही तो चौकी इंचार्ज ने उन्हें धमका कर भगा दिया। पीड़ित परिजनों ने चौकी इंचार्ज पर मारपीट करने वालों को बचाने का भी आरोप लगाया था।

मामले के अनुसार, बीती 20 अक्टूबर को भाबर क्षेत्र के अंतर्गत शीतलपुर निवासी गजेंद्र सिंह (36) पुत्र मोहन सिंह की झंडिचौड़ पूर्वी में राजपूत चौक के समीप कुछ लोगों से झड़प हो गई। मारपीट में गजेंद्र को चोट आई, जिसे पुलिस ने आकस्मिक चिकित्सा वाहन से बेस चिकित्सालय भिजवाया। यहां से उसकी गंभीर स्थिति को देखते हुए देहरादून रेफर कर दिया गया, जहां सुबह करीब 04 बजे गजेंद्र ने दम तोड़ दिया।

गजेंद्र की मौत के बाद आक्रोशित स्वजनों ने स्थाई स्थानीय लोगों के साथ रविवार सुबह हल्दूखाता तिराहे पर जाम लगा दिया। स्वजनों का आरोप था कि, पुलिस ने उनकी शिकायत पर कोई कार्रवाई नहीं की। दो दिन पूर्व जब उन्होंने चौकी में पहुंच मामले में कार्रवाई की बात कही तो चौकी इंचार्ज ने उन्हें धमका कर भगा दिया। प्रदर्शनकारी आरोपितों की गिरफ्तारी करने व कलालघाटी चौकी प्रभारी में तैनात कर्मियों के खिलाफ कार्यवाही की मांग कर रहे थे। जिसके बाद मौके पर पहुंचे अपर पुलिस अधीक्षक शेखर चंद्र सुयाल ने प्रदर्शनकारियों को समझा कर रास्ता खुलवाया व उनकी मांग पर उचित कार्यवाही का आश्वासन दिया।

वहीं पुलिस ने मामले में लिप्त 04 युवकों को गिरफ्तार कर लिया है। इसके साथ ही मामले में लापरवाही बरतने के आरोप में कलालघाटी चौकी प्रभारी प्रद्युमन सिंह और एक पुलिसकर्मी को निलंबित कर दिया गया है। बताया गया कि, मामले में पुलिस ने एनसीआर तो काटी, लेकिन घटना की सूचना उच्चाधिकारियों को नहीं दी। जिस पर कार्यवाही की गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.