देहरादून: उत्तराखंड में फौजी युवक और एक युवती की इंस्टाग्राम पर दोस्ती हुई। हर दिन 60 से 70 बार कॉल पर बातें हुई। कई बार देहरादून में एक दूसरे से मिले। इस बीच दोनो के रिश्ते के दो साल बाद फौजी ने अन्य युवक से सगाई कर ली और छुट्टी आकर प्रेमिका से मिलकर भविष्य में कोई संपर्क नहीं रखने की बात कहकर चला गया। युवती इस धोखे को सह नहीं सकी और हाईटेन्शन एंगल के तार में चुन्नी डालकर आत्महत्या कर ली। मृतिका के पिता ने अज्ञात के खिलाफ तहरीर दी थी, पुलिस ने युवती के प्रेमी को हत्या के लिए उकसाने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया है।

देर शाम तक ऑफिस से नहीं लौटने पर पिता ने दी पुलिस को सूचना

मामले के अनुसार, 29 अगस्त को रात लगभग 08:00 बजे चौकी बिन्दाल पर यमुना कालोनी निवासी वादी ने सूचना दी कि, उनकी बेटी उत्तराखण्ड जल विद्युत निगम में नौकरी करती है। वह सुबह कार्यालय गयी थी, लेकिन देर शाम तक भी वापस नही आयी। इस सूचना पर पुलिस ने गुमशदा का मोबाईल फोन सर्विलांस पर लिया और तलाश शुरू की। इस दौरान गुमशुदा का शव रात लगभग 10.30 बजे पथरीया पीर बिन्दाल के पास हाईटेन्शन लाईन के नीचे मिला। मौके पर परिजनों को बुलाया तो उन्होने शव की पहचान उनकी पुत्री के रूप में की।

युवती का शव मिलने पर पुलिस ने की जांच शुरू

मौके पर फील्ड युनिट की टीम बुलाकर सभी साक्ष्य एकत्रित किये गये। मृतका आंकाक्षा का पंचायतनामा भर कर पोस्टमार्डम की कार्यवाही डाक्टरों के पैनल द्वारा की गयी और मृतका के पिता की तहरीर के आधार पर कोतवाली कैन्ट पर मु0अ0स0 142/22 धारा 302/376 भादवि पंजीकृत कर विवेचना आरम्भ की गयी। इसके लिए प्रभारी निरीक्षक कैंट के द्वारा 3 टीमों का गठन किया गया।

पोस्टमार्टम में फांसी से दम घुटने की पुष्टी, दुष्कर्म नहीं

पुलिस की 03 टीमों में से एक टीम के द्वारा मृतका के सीडीआर का अवलोकन, दूसरे टीम को सीसीटीवी फूटैज देखने और तीसरी टीम को सम्बन्धित गवाहों से पूछताछ करने हेतु लगाया गया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मृतका की मौत फांसी लगाकर दम घुटने से होने की पुष्टी हुई तथा मृतका के साथ दूष्कर्म किया जाना नही पाया गया।

फौजी के नंबर से हर दिन 60-70 कॉल की मिली डिटेल

पुलिस ने विवेचना के दौरान पाया कि, मृतका के मोबाईल नंबर पर एक मोबाइल नंबर से प्रत्येक दिन लगभग 60-70 कॉल होती थी। इस नंबर पर शक होने से इसकी आई0डी0 निकाली गयी तो उक्त नम्बर पपेन्द्र सिह पुत्र दीवान सिह, निवासी ग्राम मौगी थाना कैम्पटी जनपद टिहरी गढ़वाल के नाम पर होना पाया गया। पुलिस ने जब जानकारी जुटाई तो इस व्यक्ति का वर्तमान में कोर ऑफ सिगनल आर्मी में जयपुर में तैनात होना पाया गया और घटना के दिन इस व्यक्ति का देहरादून में होना पता चला।

साक्ष्यों के आधार पर फौजी गिरफ्तार

इस पर सीसीटीवी फुटेज और सीडीआर के आधार पर फौजी पपेन्द्र सिह पुत्र दीवान सिह, निवासी ग्राम मौगी थाना कैम्पटी जनपद टिहरी गढ़वाल को गुरुवार एक सितंबर को गिरफ्तार किया गया।

2 साल पहले इंस्टाग्राम पर हुई युवती और फौजी की दोस्ती

अभियुक्त पपेन्द्र सिह ने पूछताछ में बताया कि, उसकी दोस्ती मृतक युवती आंकाक्षा से 2 साल पहले इंस्टाग्राम के द्वारा हुई थी। इसके बाद से ही वह एक दूसरे के संपर्क में थे, पूर्व में भी वह मृतका से मिलने कई बार देहरादून आया था।

फौजी की अन्य लड़की से सगाई के बाद बढ़ा तनाव

अभियुक्त पपेन्द्र ने बताया कि, नवंबर 2021 में मेरी सगाई किसी अन्य लड़की से हो गयी, जिसके बाद से उसने मृतका को इग्नोर करना शुरू कर दिया। इससे मृतका व उसके बीच तनाव हो गया था।

05 दिन की छुट्टी लेकर फौजी युवती से आखिरी बार मिलने आया

28 अगस्त को अभियुक्त पपेन्द्र सिह जयपुर से 05 दिन की छुट्टी लेकर देहरादून आया और घटना के दिन 29 अगस्त को मृतका से बिन्दाल पुल के पास मिला। अभियुक्त ने किराये पर एक स्कूटी ली, जिससे उसने सायं को लगभग 6.00 बजे मृतका को दून स्कूल के पास आर्मी बेरियर के निकट छोड़ दिया। साथ ही युवती से भविष्य में कोई संपर्क न रखने की बात कहकर वहाँ से चला गया। जिसके बाद मृतका ने हताशा व अभियुक्त पपेन्द्र सिह द्वारा धोखा दिये जाने के कारण हाईटेन्शन एंगल के तार में चुन्नी डालकर आत्महत्या कर ली। विवेचना से अभियोग में धारा 306 IPC का होना पाया गया है। अग्रिम विवेचना अन्तर्गत धारा 306 भादवि प्रचलित है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.