Breaking
April 18, 2024

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी सरकार की गुड गवर्नेंस पर यूकाडा ( उत्तराखंड नागरिक उड्डयन विकास प्राधिकरण) भी खरा उतरा है। पहली बार IRCTC के मार्फत केदारनाथ धाम के लिए शुरू हुई हेलीकॉप्टर बुकिंग से यूकाडा ने एक साल में ही 49 करोड़ की आय प्राप्त की है। यह आय न केवल पिछली आय से 20 करोड़ ज्यादा है, बल्कि 15 सालों में केदारनाथ में चल रही हेली सेवाओं से आमदनी का बड़ा रिकॉर्ड भी है।

केदारनाथ धाम के लिए सबसे पहले 2008-09 में व्यवसायिक रूप से हेली सेवा शुरू हुई। इसके बाद तीर्थयात्रियों की संख्या बढ़ी तो हेलीकॉप्टर संचालन करने वाले ऑपरेटर भी बढ़े। लेकिन आय में कोई खास इजाफा नहीं हुआ है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने राज्य की कमान संभाली तो यूकाडा की गहन समीक्षा की गई। इसका नतीजा रहा कि पहले साल 2022 में 29 करोड़ 76 लाख की आय हुई। जबकि इससे पहले 2021 में 8 करोड़ और 2020 में 9 करोड़ आय हेली सेवाओं से हुई थी। इस दौरान टिकटों की काला बाजारी, ऑपरेटरों की मनमानी, यात्रियों से जमकर लूट-खसोट के मामले सामने आते थे। लेकिन युवा मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने यहां भी गुड गवर्नेंस पर फोकस किया। नतीजन धामी सरकार ने मार्च 2023 में रेलवे टिकट की तर्ज पर IRCTC (इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉर्पोरेशन) के मार्फत हेलीकॉप्टर के टिकट भी सिंगल विंडो सिस्टम से कराने का निर्णय लिया।

यह व्यवस्था लागू हुई तो टिकटों की काला बाजारी, ऑपरेटरों की मनमानी बंद हो गई। केदारनाथ के लिए तय प्रक्रिया से हेलीकॉप्टर की बुकिंग शुरू होने लगी। आज परिणाम एक साल में ही सामने आया और यूकाडा ने करीब 49 करोड़ की रिकॉर्ड आय प्राप्त की। जो पिछली आय से करीब 65 फीसद ज्यादा आंकी गई है। इससे जहां यूकाडा ने सरकार की गुड गवर्नेंस पर मुहर लगा दी, वहीं आत्मनिर्भर राज्य की तरफ बड़ा कदम बढ़ाया है। यानी पहले यूकाडा हेलीकॉप्टर सेवा संचालन को सरकार से हर वर्ष ग्रांट लेता था, लेकिन अब अच्छी आय से खुद अपने खर्चे उठाएगा और सरकार पर आर्थिक बोझ नहीं डालेगा।

अब हेमकुंड और बद्रीनाथ की तैयारी

केदरानाथ धाम में IRCTC से हेलीकॉप्टर बुकिंग की सफलता के बाद यूकाडा गौचर से हेमकुंड साहिब और बद्रीनाथ धाम हेली सेवा की तैयारी में जुट गया है। सब कुछ ठीक रहा तो इसी साल दोनों धामों के लिए IRCTC के मार्फत हेलीकॉप्टर बुकिंग सेवा शुरू हो जाएगी। यहां भी अभी तक निजी ऑपरेटरों के मार्फत मनमानी तरीके से बुकिंग होती थी, जो अब जल्द व्यवस्थागत हो जाएगी।

यूकाडा ने IRCTC के मार्फत टिकट बुकिंग से इस साल करीब 49 करोड़ रुपये की आय प्राप्त की है। यह आय पिछली आय की तुलना में रिकॉर्ड 65 फीसद ज्यादा है। इस व्यवस्था को अन्य धामों में भी अपनाने की तैयारी चल रही है। इससे तीर्थयात्रियों को सुविधा, राज्य को राजस्व मिलेगा।

आर रविशंकर, सीईओ
यूकाडा, उत्तराखंड

हमारी सरकार गुड गवर्नेंस पर लगातार काम कर रही है। रोडवेज ने 23 साल बाद घाटा पूरा कर पहली बार बड़ा मुनाफा कमाया है। इसके बाद अब यूकाडा ने भी हेलीकॉप्टर सेवा संचालन को 15 साल बाद पटरी पर लाकर रिकॉर्ड आय अर्जित कर नजीर पेश की है। सरकार की प्राथमिकता है कि सेवाओं का जनजन को लाभ मिले और राज्य को राजस्व। नियम विरुद्ध और मनमानी कार्य संस्कृति हमें कतई भी स्वीकार नहीं है।

पुष्कर सिंह धामी, मुख्यमंत्री
उत्तराखंड।

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *