देहरादून: उत्तराखंड पुलिस ने अवैध रूप से प्रदेश में रह रहे पाकिस्तानी और बांग्लादेशी निवासियो की खोजबीन के लिए अभियान चलाया है। इसमें आज पुलिस को एक बड़ी सफलता मिली है। पुलिस ने ऋषिकेश से बांग्लादेशी महिला को गिरफ्तार किया है, जो फर्जी दस्तावेज बनाकर यहां रह रही है।

गृह मंत्रालय भारत सरकार ने देशभर में खोजबीन के दिए निर्देश

दरअसल, गृह मंत्रालय भारत सरकार ने देशभर के विभिन्न हिस्सों में ओवरस्टे कर रहे विदेशी नागरिकों के सम्बंध में जानकारी करने और उनकी खोजबीन किए जाने के निर्देश दिए हैं। इसी क्रम में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून ने समस्त थाना क्षेत्रांतर्गत अवैध रूप से निवासरत पाकिस्तानी व बांग्लादेशी निवासियो की खोजबीन के लिए अभियान चलाने के निर्देश दिए।

एलआईयू देहरादून को मिली थी बांग्लादेशी के ओवरस्टे की जानकारी

इसके तहत एलआईयू देहरादून ने खोजबीन अभियान चलाया है। जिसमें ऋषिकेश के आवास विकास कॉलोनी में एक बांग्लादेशी महिला के ओवरस्टे करने की जानकारी मिली। इस सूचना पर इस महिला के ऋषिकेश स्थित आवास पर जाकर उनके यात्रा संबंधी दस्तावेज और पहचान पत्रों की जांच की गई।

11 साल पहले बीजा की वैधता हो चुकी समाप्त

इसकी पहचान सोनिया चौधरी पत्नी बाबला चौधरी के रूप में हुई। जो कि, 927 आवास विकास कॉलोनी, वीरभद्र रोड, ऋषिकेश में रह रही थी। जांच में पता चला कि, आवेदिका बांगलादेशी पासपोर्ट धारक है, जिसकी वैधता 25 दिसंबर 2014 को समाप्त हो चुकी है और बीजा की वैधता भी 18 सितंबर 2011 को समाप्त हो चुकी है।

अवैध रूप से बनाए हैं भारतीय दस्तावेज

इसके अलावा अन्य पहचान पत्रों की जांच करने पर इस महिला से भारत मे अवैध रूप से निवासरत रहते हुये भारतीय दस्तावेज बनाना भी ज्ञात हुआ, जो आईपीसी एवं पासपोर्ट अधिनियम 1967/विदेशी अधिनियम 1946 के प्रावधानों का उल्लंघन है।

बांग्लादेशी महिला पर मुकदमा दर्ज

इन दस्तावेजों के आधार पर उक्त महिला के विरुद्ध थाना ऋषिकेश में मुक़दमा अपराध संख्या 471/22 धारा 419, 420, 467, 468, 471, 120 बी भा0द0वि0, धारा 14 विदेशी अधिनियम व धारा 12 पासपोर्ट अधिनियम बनाम सोनिया चौधरी पत्नी बाबला चौधरी मूल पता: ग्राम खण्डाकिया पोस्ट यूनुस नगर थाना हथ हजारी जिला चिटगांव बांग्लादेश पंजीकृत करते हुए आज उक्त महिला को गिरफ्तार किया गया। जिसे न्यायालय के समक्ष पेश किया जायेगा।

पुलिस टीम में यह रहे शामिल

पर्यवेक्षण अधिकारी में कमलेश उपाध्याय, पुलिस अधीक्षक ग्रामीण और बलवंत सिंह रावत, निरीक्षक एलआईयू रहे। वहीं पुलिस टीम में एलआईयू ऋषिकेश SI विपिन गुसाईं, प्रभारी यूनिट ऋषिकेश, HC जयपाल तड़ियाल, HC सोमप्रकाश कुकरेती, म0का0 नीलम नेगी, का0 आशीष रावत और कोतवाली ऋषिकेश से वरिष्ठ उप निरीक्षक दर्शन प्रसाद काला, उपनिरीक्षक मनवर सिंह नेगी, चौकी प्रभारी एम्स एवं महिला उपनिरीक्षक सोनल पुरी शामिल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.