बड़कोट : राजेंद्र सिंह रावत राजकीय महाविद्यालय, बड़कोट में “NSS स्थापना दिवस” के अवसर पर महाविद्यालय में संचालित NSS इकाई के स्वयंसेवियों द्वारा विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। इसमें सफाई अभियान, वृक्षारोपण, के साथ-साथ सांस्कृतिक कार्यक्रमों का भी आयोजन हुआ।

महाविद्यालय के प्रभारी प्राचार्य, डॉ. जगदीश चंद्र रस्तोगी के मार्गदर्शन में आयोजित इस कार्यक्रम में राष्ट्रीय सेवा योजना के वरिष्ठ कार्यक्रम अधिकारी  संगीता रावत एवं कार्यक्रम अधिकारी डी. पी. गैरोला. के द्वारा राष्ट्रीय सेवा योजना की पृष्ठभूमि पर विस्तार से प्रकाश डाला गया। मंच का संचालन करते हुए कार्यक्रम अधिकारी डी. पी. गैरोला ने कहा कि, राष्ट्रीय सेवा योजना में-

           उठे समाज के लिए उठे – उठे,

           जगें स्वराष्ट्र के लिए जगें-जगें ।

               स्वयं सजें वसुंधरा सँवार दें,

               स्वयं सजें वसुंधरा सँवार दें।

जैसे भाव समाहित है। राष्ट्रीय सेवा योजना एक राष्ट्रव्यापी कार्यक्रम है । जिसका ध्येय वाक्य है “मैं नहीं, किंतु आप” वास्तव में यह कार्यक्रम अपने ध्येय को सार्थक करता है।

जिसमें स्वयंसेवी अपने संपूर्ण व्यक्तित्व का विकास कर अपने को पूर्ण शिक्षित करते हैं, क्योंकि एक पूर्ण शिक्षा का तात्पर्य है, संपूर्ण व्यक्तित्व का विकास होना, जिसके लिए राष्ट्रीय सेवा योजना एक उचित मंच है। इसके अलावा महाविद्यालय के वरिष्ठ प्राध्यापक डॉ. बी.एल थपलियाल के NSS सेवा भाव एवं एन.एस.एस की प्रासंगिकता पर विस्तार व्याख्यान दिया गया।

कार्यक्रम के अगले क्रम में राष्ट्रीय सेवा योजना के पूर्व स्वयंसेवियों के द्वारा अपने पूर्व राष्ट्रीय सेवा योजना के सप्त दिवसीय विशेष शिविर और एक दिवसीय शिविरों से व्यक्तित्व में हुए सकारात्मक परिवर्तन के विषय में अनुभव साझा किए गए। इसके अलावा स्वयंसेवियों के द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम एवं भाषण प्रतियोगिता का आयोजन किया गया।

कार्यक्रम के समापन उद्बोधन में महाविद्यालय के प्रभारी प्राचार्य डॉ. जगदीश चंद्र रस्तोेगी के द्वारा NSD के स्थापना दिवस पर आयोजित एक दिवसीय शिविर के सफल आयोजन हेतु धन्यवाद ज्ञापित किया गया।

छात्रों का मार्गदर्शन करते हुए उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय सेवा योजना राष्ट्र से व्यक्ति को एक सेतु के समान जोड़ता है। जिससे न केवल हमारा बौद्धिक विकास होता है, बल्कि मनोवैज्ञानिक के साथ हमारा सामाजिक विकास भी होता है।

उन्होंने महाविद्यालय में प्रवेश लेने वाले नवप्रवेशित छात्र-छात्राओं को अधिक से अधिक संख्या में राष्ट्रीय सेवा योजना ज्वाइन करने के लिए प्रेरित किया इस अवसर पर महाविद्यालय के प्राध्यापकों में डॉ. विनय शर्मा, डॉ. दिनेश शाह, डॉ अर्चना कुकरेती,डॉ.आंचल रावत, डॉ प्रमोद नेगी, डॉ.अविनाश मिश्रा समेत अन्य लोग मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.