नई दिल्ली: केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी और राम चंद्र प्रसाद सिंह ने मोदी मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया है। केंद्रीय अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी के साथ केंद्रीय इस्पात मंत्री आरसीपी सिंह दोनों का राज्यसभा कार्यकाल कल यानी गुरुवार को खत्म हो रहा है। प्रधानमंत्री मोदी ने इससे पहले केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक के दौरान देश व लोगों की सेवा के लिए दोनों नेताओं की सराहना की थी।

मुख्तार अब्बास नकवी को भाजपा ने पिछले दिनों हुए राज्यसभा के चुनाव में उम्मीदवार नहीं बनाया था, तब से ही कयास लगाए जा रहे थे कि पार्टी उन्हें किसी बड़ी भूमिका में लाना चाहती है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, नकवी को NDA की तरफ से उपराष्ट्रपति पद का कैंडिडेट बनाया जा सकता है। नकवी अभी तक केंद्र सरकार में मंत्री रहे हैं, साथ ही वे राज्यसभा में भाजपा संसदीय दल के उपनेता भी थे।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, सत्तारूढ़ भाजपा दूसरे सर्वोच्च संवैधानिक पद (उपराष्ट्रपति) के लिए अल्पसंख्यक समुदाय के एक प्रतिनिधि पर लगातार मंथन करती रही है। ये सब ऐसे समय में हो रहा है, जब भाजपा को निलंबित प्रवक्ता नुपुर शर्मा द्वारा पैगंबर मुहम्मद की टिप्पणियों के कारण तीखी आलोचनाओं का सामना करना पड़ा है। बता दें कि, उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू का कार्यकाल 10 अगस्त को समाप्त हो रहा है। वहीं, उपराष्ट्रपति पद के लिए नामांकन की आखिरी तारीख 19 जुलाई है। उपराष्ट्रपति पद के लिए 6 अगस्त को चुनाव होंगे।

वहीं मुख्तार अब्बास नकवी के साथ जनता दल यूनाईटेड के कोटे से केंद्र सरकार में मंत्री आरसीपी सिंह ने भी कैबिनेट से इस्तीफा दिया है। उन्हें भी जदयू ने राज्यसभा में अगला कार्यकाल नहीं दिया है। आरसीपी सिंह का राज्यसभा सांसद के तौर पर गुरुवार को ही अंतिम दिन है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.