Breaking
April 15, 2024

देहरादून। हनोल स्थित महासू मंदिर में देव दर्शनों के लिए जागरा (देवनायणी) राजकीय मेला पर्व पर उत्तराखंड के विभिन्न हिस्सों सहित के सीमावर्ती राज्यों से आने वाले श्रद्धालुओं की सुविधा एवं सुरक्षा के लिए राज्य सरकार आयोजन के बेहतर प्रबंधन में लगी है। हम सभी को सदभाव के साथ जांगड़े को सम्पन्न करवाने में अपना सहयोग देना चाहिए।

उक्त बात प्रदेश के संस्कृति, धर्मस्व, पर्यटन, सिंचाई, लोक निर्माण, पंचायतीराज, ग्रामीण निर्माण एवं जलागम, मंत्री सतपाल महाराज ने हनोल स्थित महासू मंदिर एवं दसऊ स्थित चालदा महाराज मंदिर परिसर में जागरा (देवनायणी) राजकीय मेला पर्व की तैयारियां को लेकर कही। उन्होंने कहा कि जौनसार बाबर के प्रमुख तीर्थ स्थल हनोल मंदिर में पूजा दर्शन के लिए हर वर्ष जांगड़े में हिमाचल से हजारों की संख्या में श्रद्धालु आते हैं। इसलिए उन्होंने हिमाचल से आने वाले श्रद्धालुओं के लिए हिमाचल के उपमुख्यमंत्री और परिवहन मंत्री मुकेश अग्निहोत्री को पत्र लिखकर 18 सितंबर को हनोल मंदिर और 19 सितंबर को चलदा महाराज दसऊ में जांगड़ा देवनायणी राजकीय मेल पर्व पर शिमला से हनोल तथा रोडू से हलोल के लिए रोडवेज बसों के संचालन का अनुरोध किया है।

संस्कृति एवं धर्मस्व मंत्री सतपाल महाराज ने कहा कि हनोल स्थित महासू मंदिर में मंदिर समिति के द्वारा भण्डारे का आयोजन किया जाएगा जबकि 19 सितम्बर को दसऊ स्थित चालदा महाराज मंदिर परिसर में मानव उत्थान सेवा समिति के द्वारा भण्डारे का आयोजन होगा।

महाराज ने बताया कि उन्होंने जिलाधिकारी से जांगड़ा (देवनायणी) राजकीय मेला पर्व पर देहरादून के चकराता व कालसी के साथ-साथ उत्तरकाशी जनपद के मोरी और पुरोला ब्लाक में अवकाश घोषित करने के भी निर्देश दिये हैं।

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *