Breaking
March 4, 2024

देहरादून :  मुख्य सचिव डॉ. S.S संधु की अध्यक्षता में सचिवालय में राज्य स्वास्थ्य प्राधिकरण, उत्तराखण्ड की द्वितीय शासकीय सभा की बैठक आयोजित हुयी। बैठक में विभिन्न प्रस्तावों को अनुमोदन प्रदान किया गया।

मुख्य सचिव ने कहा कि, आयुष्मान भारत, अटल आयुष्मान उत्तराखण्ड योजना के अंतर्गत 100 प्रतिशत सैचुरेशन किया जाए। राशन कार्ड न होने के कारण जिनके आयुष्मान कार्ड नहीं बन पा रहे हैं, उनके लिए आधार कार्ड या वोटर आईडी कार्ड आदि सरकारी पहचान पत्रों को अनुमन्य किया जाए। उन्होंने इसके लिए जनता की शिकायतों के निवारण के लिए प्रभावी प्रणाली तैयार करने के भी निर्देश दिए।

मुख्य सचिव ने फर्जी बिल लगाने वाले अस्पतालों पर लगातार जुर्माना लगाने और अस्पतालों की सूचीबद्धता समाप्त किए जाने के निर्देश देते हुए कहा कि, जिन अस्पतालों की सूचीबद्धता समाप्त की जा रही है, उन अस्पतालों की सूची समाचार पत्रों के माध्यम से प्रचारित की जाए। उन्होंने अधिकारियों को ओपीडी को पूर्ण कम्प्यूट्रीकृत किए जाने के भी निर्देश दिए। साथ ही, कहा कि राज्य के पर्वतीय क्षेत्रों में अस्पतालों को बढ़ावा देने हेतु पॉलिसी तैयार की जाए।

इस अवसर पर अध्यक्ष राज्य स्वास्थ्य प्राधिकरण डी. के. कोटिया सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Ayushman Card Uttarakhand के लाभ

अटल आयुष्मान कार्ड (Uttarakhand Atal Ayushman Yojana) पर प्रत्येक परिवार को सालाना 5 लाख रूपये का फ्री चिकित्सा लाभ मिल रहा है। जिसे बीमारी के समय सूचीबद्ध अस्पताल में आपको साथ लेकर जाना होगा।

Ayushman Card कहां बनाएं?

सरकार द्वारा कुछ प्रमुख केंद्र बनाये गए है, जहां पर आप जरूरी दस्तावेजों में से किसी एक को ले जाकर कार्ड बनवा सकते है। पूरे उत्तराखंड में सरकार द्वारा एक अभियान के तहत 600 केंद्र बनाए गए है। जिसमे उत्तराखंड के सभी मेडिकल कॉलेज, सभी जिलों के जिला/उप जिला चिकित्सालय, सभी जिलाधिकारी कार्यालय, सभी ब्लॉक कार्यलय, सभी नगर निगम, नगर पालिका व नगर पंचायत, सभी तहसीलें के अलावा नजदीकी CSC सेंटर से भी कार्ड बनवा सकते हैं।

उत्तराखंड अटल आयुष्मान योजना के तहत सभी जिलों के  Empanelled Hospitals list यहां चेक करें: 

https://ayushmanuttarakhand.org/empanelled-hospitals

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *