देहरादून: अंकिता मर्डर केस में (Ankita Murder Case) पोस्टमार्टम के बाद कई खुलासे हुए हैं। पीएम रिपोर्ट में अंकिता के शरीर पर गंभीर चोटों के निशान मिले हैं। ऐसे निशान, जिनके बारे में जानकार आपका खून भी खौल उठेगा। जांच के लिए बिसरा भी सुरक्षित रखा गया है। अंकिता के शरीर पर मृत्यु से पूर्व चोट के निशान बताए गए हैं।

Ankita Murder Case : AIIMS में हुआ पोस्टमार्टम, भीड़ ने रोकी एंबुलेंस, रिपोर्ट सार्वजनिक करने की मांग…देखें VIDEO

मृत्यु का प्रथमदृष्टया कारण पानी में गिरकर दम घुटना मौत होना बताया गया है। विस्तृत रिपोर्ट सोमवार तक मिलेगी। अंकिता के परिजनों ने पोस्टमार्टम की पूरी रिपोर्ट नहीं आने तक अंतिम संस्कार नहीं करने की बात कही है। परिजनों ने अंतिम संस्कार करने से इंकार कर दिया है। उन्होंने पीएम पर सवाल खड़े किए हैं। साथ ही कई दूसरे पहलुओं पर भी गंभीर सवाल उठाए हैं।

अंकिता के शरीर पर चोट के निशान

  • चीला पावर हाउस बैराज से शनिवार को सुबह अंकिता भंडारी का शव बरामद होने के बाद जब उसके पिता वीरेंद्र सिंह भंडारी पहचान कर रहे थे तो वहां पर बड़ी संख्या में प्रत्यक्षदर्शी मौजूद थे।
  • इनमें से कई लोग पोस्टमार्टम के वक्त भी यहां मौजूद रहे।
  • इन्होंने अंकिता के पार्थिव शरीर को नजदीक से देखा है।
  • उसका एक दांत टूटा, एक आंख में सूजन थी। हाथ पर भी चोट का निशान था।
  • मीडिया से बातचीत में अपर पुलिस अधीक्षक शेखर सुयाल ने जो जानकारी दी थी, उनके मुताबिक भी आरोपितों ने अंकिता की हत्या करने से पूर्व पीटा था।
  • उन्‍होंने कहा था कि उसके शरीर पर चोट के निशान पिटाई के थे या नहर में डूबने के बाद आए, यह विस्तृत पोस्टमार्टम रिपोर्ट से ही स्पष्ट हो पाएगा।
  • सोमवार तक मिलेगी पोस्टमार्टम की विस्तृत रिपोर्ट
  • सुबह 11  से शाम चार बजे तक पोस्टमार्टम चला।
  • एम्स के चार डॉक्टरों के पैनल में दो फैकल्टी और दो रेजीडेंट डॉक्टर शामिल रहे।
  • पोस्टमार्टम शुरू होने से समाप्त होने तक जिलाधिकारी पौड़ी डा. विजय कुमार जोगदंडे, एसएसपी पौड़ी यशवंत सिंह चौहान, एसपी देहात देहरादून कमलेश उपाध्याय, अपर पुलिस अधीक्षक कोटद्वार शेखर सुयाल, उप जिला अधिकारी यमकेश्वर प्रमोद कुमार सहित अन्य अधिकारी यही मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.